एक सब्जी बेचने वाले के बेटे ने JRF की Top 10 List में जगह बनाई

Share:
कोटला के त्रिलोकपुर गांव का रहने वाला एक शख्स शेर सिंह त्रिलोकपुर में ही सब्जी बेचने का काम करता है का एक बेटा है सनी कुमार जिसने जेआरएफ में टॉप टेन में जगह बनाई है पूरे देश में CBSE जेआरएफ मैं तकरीबन 1148235 अभ्यर्थियों ने अलग-अलग सब्जेक्ट के जेआरएफ और नेट दिए थे जिनमें से सनी कुमार ने Library Information Science JRF में पास होकर Top 10 की सूची में उपलब्धि हासिल की है।

ek sabji bechne wale ke ladke ki safalta ki hindi kahani. sanni kumar ne jrf me top 10 list me apni jagah banayi


शेर सिंह जोकि सनी कुमार के पिताजी हैं त्रिलोकपुर में सब्जी बेचने का काम करते थे और उनकी मां घर का काम संभालती हैं आर्थिक स्थिति कमजोर होने के बावजूद भी सनी कुमार ने अपने माता-पिता का सपना साकार किया है। शुरुआत में स्कूल की पढ़ाई त्रिलोकपुर से ही की थी उसके बाद कॉलेज की पढ़ाई नूरपुर कॉलेज से की थी। कॉलेज से बीकॉम की पढ़ाई करने के बाद केंद्रीय विश्वविद्यालय धर्मशाला से LIBRARY AND INFORMATION SCIENCE में PG की थी। फिलहाल में सनी कुमार चंडीगढ़ विश्वविद्यालय की लाइब्रेरी में प्रोफेशनल असिस्टेंट के पद पर हैं।


कहते हैं कि जब व्यक्ति दिल से मेहनत करता है तो उसका परिणाम उसको उसकी मंजिल तक पहुंचा देता है इसी तरह सनी कुमार ने मेहनत में कोई कसर नहीं छोड़ी। सनी लगभग 2 साल से रोजाना 12 से 13 घंटे का समय अपनी पढ़ाई को ही देते थे। सनी की कोशिशें लगातार चलती रही इससे पहले उसने चार बार जेआरएफ की परीक्षाएं दी हैं लेकिन असफल रहे सनी कुमार ने हार ना मानते हुए इस बार 67 प्रतिशत अंक हासिल करके बता दिया है की अगर आदमी मेहनत से और लगन से कार्य करें तो सफलता अवश्य मिलती है।

सनी के पिता शेर सिंह एक सब्जी विक्रेता होने के बावजूद भी उसने अपने बेटे को पढ़ाई के लिए पूरा समय दिया। सनी का कहना है कि यह सब मेरे माता-पिता की बदौलत है इसलिए सनी ने इसका पूरा क्रेडिट अपने माता पिता को ही दिया है।

No comments