हमारे बारे में हमसे संपर्क करें टिप्स और ट्रिक्स ऑनलाइन पैसे कैसे कमायें फ्री वेबसाइट कैसे बनायें

September 03, 2016

पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द से राहत पाने के उपाय

ये बात तो अक्सर सभी लोग जानते हैं की महिलाएं महीने पीरियड्स (मासिक धर्म) के दौरान दर्द से पीड़ित रहती हैं. महिलाएं इस दर्द से पूरी तरह से तो छुटकारा नहीं पा सकती हैं, लेकिन कुछ उपायों को अपनाकर इस दर्द में कमी कर सकती हैं यानी कुछ चीजों के सेवन से इसमें राहत जरुर पाई जा सकती है,निचे कुछ उपाय दिए गए हैं इनको अपना कर महिला दर्द से राहत पा सकती हैं!





पीरियड्स  के दौरान दर्द ,एंठन और मरोड़ की हालत में गर्म पानी की बोतल या हीट पैड की सिकाई करने से दर्द में आराम मिलता है लेकिन ध्यान रहे गर्म पानी कि बोतल या हीट पैड ज्यादा गर्म नहीं होनी चाहिए, इससे तवचा के जलने का खतरा रहता है. गर्म पानी से नहाने से भी दर्द में आराम मिलता है और राहत महसूस होती है.
अदरक और शहद का पानी
 
क्या अदरक और शहद के पानी से पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द में राहत पाई जा सकती है जी हाँ पीरियड्स शुरू होने से पहले से ही पानी में अदरक को उबाल लें और इसमें शहद को मिला कर पिएं. पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द में ये बहुत फायदेमंद है. दिन में दो-तीन बार इसको पीने से उस दौरान होने वाले दर्द में आराम मिलता है.




पाइनएप्पल खाने से दर्द में राहत मिलती है

जी हाँ पीरियड्स के दौरान पाइनएप्पल का सेवन करना बहुत फायदेमंद है क्योंकि इसमें ब्रोमलेन होता है जो प्रोटीन डाईजेस्टिव एन्जाइम का मिक्सचर होता है जो दर्द में राहत दिलाता है. पाइनएप्पल का सेवन जोड़ों के दर्द में भी फायदेमंद है इसलिए पाइनएप्पल को पीरियड्स में ही नहीं बल्कि जोड़ों के दर्द में भी उपयोग कर सकते हैं.


पीरियड्स के दौरान पपीता खाना है लाभदायक

जी हाँ पपीता के सेवन से भी पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द में आराम मिलता है. पपीते में एंटी-इन्फ्लेमेटेरी तत्व होते हैं जो दर्द में राहत देने में कारगर हैं. पपीता में कैरोटिन , आयरन , विटामिन-A और विटामिन-C जैसे न्यूट्रीएण्ट्स मौजूद होते हैं तथा पपीते में कैल्शियम कि मात्रा भी पाई जाती है जो ब्लड क्लॉटिंग नहीं होने देते हैं यह मसल्स कॉन्ट्रेक्शन को रोकते हैं.इसके अलावा पपीता शरीर में ब्लड मात्रा को भी बढाता है जिससे शारीरिक कमजोरी महसूस नहीं होती है.

रसभरी से बनी चाय पीना है लाभदायक  

मासिक धर्म के दौरान रसभरी कि हरी पत्तियों से बनी चाय पीना फायदेमंद है इससे दर्द में राहत मिलती है क्योंकि रसभरी की पत्तियों से तैयार चाय एक तरह से हर्बल टी है जिसमे कैफीन नहीं होता है. इसमें विटामिन-सी, विटामिन-ए, विटामिन-ई और मैग्नेशियम जैसे मिनरल्स पाए जाते हैं. जिससे पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द में आराम मिलता है.


गरम सिकाई से आराम मिलता है  


ऑइल मसाज से भी मिलता है आराम

मासिक धर्म के दौरान दर्द से राहत पाने के लिए पेट के आस-पास के हिस्से में धीरे-धीरे हलके हाथों से ऑइल की मसाज करने से दर्द में राहत मिलती है और इसका कोई दुष्प्रभाव भी नहीं है. मसाज के लिए लेवेंडर ऑइल बेहतर विकल्प है. मसाज के लिए आप अरोमाथैरेपी का भी इस्तेमाल कर सकतें हैं. अगर लेवेंडर ऑइल उपलब्ध न हो तो आप अन्य ऑइल का भी उपयोग कर सकते हैं.   



If You Enjoyed This Post Please Take 5 Seconds To Share It.

Article by: Sharuf Khan

He is a professional hindi blogger and share regular new content in hindi for begginers. You can subscribe our blog newsletter and get new updates daily for free. If you want learn more about us then click here.


2 comments:

इंडिया वेबलिंक पर आपका स्वागत है ! अगर आप ने हमे कमेंट किया है तो कृपया कुछ देर के लिए प्रतीक्षा करें ! हम जल्दी ही आपके कमेंट का जवाब देने की कोशिश करेंगे ! कमेन्ट करने के लिए धन्यवाद !

FOLLOW ON SOCIAL MEDIA

LAST RECENT POSTS

GET FREE EMAIL ALERT

GET FREE LAST UPDATE

अगर आप अपने ईमेल इनबॉक्स में नयी पोस्ट के NOTIFICATION प्राप्त करना चाहते हैं तो अभी सब्सक्राइब करें सब्सक्राइब करने बाद आप ईमेल पर एक लिंक आएगा उस पर क्लिक करके कन्फर्म जरुर करें